Browsing Category

धर्म

प्रेम में आ रही है बाधा तो पहनें टोपाज रत्न, जानें इसे पहनने के चमत्कारी लाभ

पुखराज को बृहस्पति का रत्न माना जाता है। इस रत्न को पहनने से गुरु की कृपा प्राप्त होती है। आमतौर पर पुखराज पीले रंग का होता है, लेकिन नीले रंग का पुखराज अधिक प्रभावशाली…

श्रद्धालु भगवान विट्ठल को श्री कृष्ण का ही रूप मानते हैं

भारतवर्ष श्रद्धा और ज्ञान की भूमि है। यहां के देवता शास्त्र नहीं, बल्कि भक्तों की श्रद्धा से स्थापित होते हैं। विट्ठल पांडुरंग भगवान उन्हीं में से एक हैं। वे महाराष्ट्र…

मंगलवार के दिन नहीं खरीदनी चाहिए ये चीजें, घर में आती है दरीद्रता

मंगलवार का दिन बजरंगबली को समर्पित होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। हनुमान जी को संकटमोचन भी…

Gyan Ganga: हनुमानजी ने लक्ष्मणजी को आखिर क्यों सुग्रीव के पलंग पर बिठा दिया था ?

विगत अंकों में हमने इस विषय पर चिंतन किया था कि श्री हनुमान जी ने सुग्रीव को चार विधियों का ज्ञान प्रदान किया था जिससे सुग्रीव का समस्त अज्ञान हरा गया था। इससे सुग्रीव की…

भगवान विष्णु के शयन मुद्रा में जाते ही सारे शुभ कार्य हो जाते हैं स्थगित

देवशयनी एकादशी से देवउठनी एकादशी तक यानी की चातुर्मास की शुरुआत हो जाती है जो देवशयनी एकादशी से लेकर देवउठनी एकादशी तक होता है जिसे हम चतुर्मास की शुरुआत हो ना कहते हैं …

हिंदू धर्म में क्या है देवशयनी एकादशी का महत्व, जानिए इससे जुड़ी मान्यताएं

आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को ही देवशयनी एकादशी कहा जाता है। भारत में कई जगह इस तिथि को 'पद्मनाभा' भी कहते हैं और इस एकादशी को शयनी एकादशी, महा-एकादशी, प्रथमा…

- Sponsored -

साप्ताहिक अंक ज्योतिष राशिफल 19-25 जुलाई, इन मूलांक वालों के लिए शुभ रहेगा यह सप्ताह

हर व्यक्ति को अपने भविष्य के बारे में जानने की जिज्ञासा होती है। कई लोग भविष्य जानने के लिए जन्म कुंडली बनवाते हैं तो कुछ लोग अपना हाथ दिखवाते हैं। अंक ज्योतिष भी भविष्य…

श्रावण में शिवलिंग पर जल चढ़ाने का क्यों है विशेष महत्व ? शिव कृपा पाने के लिए क्या-क्या करना चाहिए?

श्रावण मास भगवान शिवजी का प्रिय मास है। श्रावण अथवा सावन हिन्दू पंचांग के अनुसार वर्ष का पांचवां महीना होता है जोकि ईस्वी कलेंडर के जुलाई या अगस्त माह में पड़ता है। इस…

नागनी मां के दरबार में सर्पदश से पीडि़त लोग ठीक होकर जाते हैं

पूरे भारत में नाग पूजा का सम्बंध मानव की आस्था से है। वास्तव में नाग जाति की उत्पत्ति पश्चिमी हिमालय है चाहे जम्मू-कश्मीर हो, कुल्लू -मनाली का गोशाल गांव हो, उत्तराखंड या…

सावन में शिवमयी हो जाता है उत्तर भारत का प्रसिद्ध धाम बैजनाथ शिव मंदिर

हिमाचल प्रदेश का प्रसिद्ध शिवधाम बैजनाथ  हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित है।  सावन माह में  बैजनाथ की रौनक देखते ही बनती है। बैजनाथ शिव मंदिर स्थानीय लोगों के…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More