नवादा :- उचक्कों का तांडव, इंडेन गैस के कर्मचारी का चार लाख 13 हजार स्टेट बैंक के काउंटर उड़ाया

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- sponsored -

सुनील कुमार की रिपोर्ट
बैंक की सुरक्षा व्यवस्था को ठेंगा दिखाते हुए उचक्के ने स्थानीय स्टेट बैंक की शाखा से एक ग्राहक का रुपये से भरा थैला को उड़ा लिया। बुधवार को जिले के वारिसलीगंज एसबीआई की शाखा में पैसा जमा करने गए सुपर गैस एजेंसी के एक कर्मचारी का  बैंक के अंदर काउंटर के पास कुर्सी पर रखा रुपये से भरा थैला को उचक्के ने पलक झपकते ही उड़ा लिया। बाद में बैक प्रबंधन द्वारा मुख्य दरबाजे को बंद कर काफी खोजबीन की गई लेकिन गेट बंद करने से पहले उचक्का बैग लेकर फरार होने में सफल हो चुका था। सूचना बाद थानाध्यक्ष पवन कुमार ने बैंक जाकर सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। 

इंडेन गैस कंपनी के स्थानीय थोक विक्रेता सुपर गैस एजेंसी के कर्मचारी बालेश्वर प्रसाद  ने अन्य दिनों की तरह बुधवार को बैंक खुलते 10 बजे एक थैला में ₹413780 लेकर स्टेट बैंक की शाखा में जमा करने गए थे। इस दौरान बैंक के कर्मचारी रुपया लाने के लिए लॉकर गए हुए थे । इसी दौरान गैस कंपनी के कर्मचारी रुपया गिनती करने वाली मशीन के पास स्थित कुर्सी पर  थैला रखकर कुछ देर तक बैंक कर्मी के आने का इंतजार किया। देर होने के बाद गैस कंपनी के कर्मचारी बैंक मैनेजर के कक्ष में चला गया। इस बीच पहले से घात लगाए बैंक के काउंटर नम्बर 03 के पास दो उचक्के जो आम ग्राहकों के साथ कतार में खड़ा हुआ था। एक उच्चका ने अपने दूसरे साथी को थैला उठाने का इशारा किया। तभी थैला के नजदीक रहे एक उचक्का ने काउंटर के अंदर कुर्सी पर रखा हुआ रुपया से भरा थैला लेकर फरार हो गया। मात्र कुछ मिनट के बाद बाहर आया गैस एजेंसी का कर्मचारी अपना रुपए से भरा थैला नहीं देख परेशान हो गया। और बैंक कर्मियों के साथ वारिसलीगंज थाना को घटना की जानकारी दी। सूचना मिलते ही थाना अध्यक्ष पवन कुमार स्टेट बैंक के शाखा पहुंचकर बैंक के अंदर और बाहर लगे सीसीटीवी कैमरा को खंगालना शुरू कर दिया।

- Sponsored -

सीसीटीवी कैमरे के अनुसार घटना में दो उचक्के युवाओं की संलिप्तता उजागर हो रही है। सुबह बैंक खुलते ही दोनों उचक्का कुछ सेकंड के अंतराल में बारी बारी से बैंक में प्रवेश करता है। और थैला लेकर दोनों एक साथ बैंक से निकलकर फरार हो जाता है। रुपयों से भरा थैला ले जाने वाला उचक्का ने अपने एक हाथ में कोई कागज का टुकड़ा और दूसरे हाथ में प्लास्टिक का धारीदार थैला लिए था। बता दें कि वारिसलीगंज क्षेत्र में साइबर अपराधियों के साथ ही कुछ प्रशिक्षित उचक्के बैंको के इर्द गिर्द चक्कर लगाते रहते हैं। जब भी कोई वयापारी या ग्राहक पैसा जमा करने या निकासी करने आता है। वह पीछा करते बैंक में प्रवेश कर जाता है। थोड़ी सी लापरवाही बाद उचक्के अपना हांथ साफ़ कर गन्तव्य को फरार हो जाते हैं। 

पूर्व में भी कटिहार के कोढ़ा गिरोह के सदस्य की हो चुकी है गिरफ्तारी : कुछ दिनों पूर्व  क्षेत्र में बढ़ती छिनतई की घटनाओ के मद्देनजर तत्कालीन पुलिस कप्तान के आदेशानुसार वारिसलीगंज पुलिस द्वारा चलाई गई सघन वाहन जांच अभियान के दौरान  कटिहार के कोढा गिरोह के चार झपटा मार बदमाशों को  स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तब क्षेत्र में सक्रिय गिरोह के बदमाशों के आने की सूचना के बाद नवादा के आसूचना इकाई तथा वारिसलीगंज पुलिस की संयुक्त कार्यवाई में कटिहार के कोढ़ा गिरोह के चार सदस्य आर्म्स के साथ गिरफ्तार किया था। सभी बदमाशों की गिरफ्तारी सिमरी बीघा बायपास स्थित ओवरब्रिज के नीचे से की गई थी।  

गिरोह के सभी बदमाश कटिहार जिला के थे निवासी वारिसलीगंज पुलिस द्वारा 09 नबम्बर 2020 को डीआईयू तथा स्थानीय पुलिस की संयुक्त कार्यवाई में कटिहार जिला के कोढ़ा थाना क्षेत्र के नया टोला जुड़ावगंज का निवासी है। जिसमें कृष्ना यादव का पुत्र सुधीर कुमार यादव, टुन्नी यादव का पुत्र राकेश यादव, नंदू यादव का पुत्र बिट्टू यादव तथा हीरा यादव का पुत्र अनूप कुमार यादव को गिरफ्तार किया गया था। जबकि दो बदमाश फरार होने में सफल रहा था। पुलिस के अनुसार उक्त संगठित गिरोह शेखपुरा में किसी किराए के मकान में रहकर आसपास के जिलों में बैंक ग्राहकों को निशाना बना राशि झपटने का कार्य करता था। अनुमानतः जिले में राशि झपटने की घट रही घटनाओं में कोढ़ा गिरोह की भूमिका हो सकती है।

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More