दिलीप कुमार और राज कपूर के पैतृक आवासों को सरंक्षण में लेगी Pak सरकार, शुरू की प्रक्रिया

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- sponsored -


राज कपूर, दिलीप कुमार.

पाकिस्तान (Pakistan) की खैबर पख्तूनख्वा प्रांतीय सरकार बॉलीवुड के महान एक्टर दिलीप कुमार और दिवंगत अभिनेता राज कपूर के पैतृक आवासों (Raj Kapoor and Dilip Kumar’s Ancestral Homes) को संग्रहालयों में परिवर्तित करने वाली है, जिसके लिए प्रक्रिया भी शुरू हो गई है.

मुंबईः पाकिस्तान (Pakistan) की खैबर पख्तूनख्वा प्रांतीय सरकार ने बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) और दिवंगत अभिनेता राज कपूर (Raj Kapoor) के पैतृक घरों को औपचारिक तौर पर संरक्षण में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. सरकार इस शहर के बीचों-बीच स्थित राज कपूर और दिलीप कुमार के पैतृक आवासों (Raj Kapoor and Dilip Kumar’s Ancestral Homes) को संग्रहालयों में परिवर्तित करने वाली है, जिसके लिए प्रक्रिया भी शुरू हो गई है. पेशावर के उपायुक्त खालिद महमूद ने बुधवार को ऐतिहासिक इमारतों के वर्तमान मालिकों को अंतिम नोटिस भेजा है और उन्हें 18 मई को तलब किया है. आवासों के वर्तमान मालिक खैबर पख्तूनख्वा (केपी) सरकार द्वारा निर्धारित हवेलियों की कीमतों पर अपनी आपत्ति जाहिर कर सकते हैं. प्रांतीय सरकार या अदालत से घरों की कीमतों में वृद्धि का आदेश दे सकती है. पहले प्रांतीय सरकार ने राज कपूर की 6.25-मारला और दिलीप कुमार की चार-मरला हवेलियों की कीमत क्रमशः 1.50 करोड़ रुपये और 80 लाख रुपये तय की थी. सरकार ने दोनों हवेलियो को संग्रहालयों में बदलने की योजना बनाई थी. ये भी पढ़ेंः Covid-19 second wave : सांसों के संकट पर गुस्साए सुनील शेट्टी, नेताओं को ठहराया जिम्मेदार मारला भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में जमीन को मापने की एक ट्रेडिशनल इकाई है. एक मारला में 272.25 वर्ग फुट होते हैं, जो 25.2924,000 मीटर के बराबर माना जाता है. ऐसे में राज कपूर की हवेली के वर्तमान मालिक अली कादिर ने हवेली की कीमत 20 करोड़ बताई थी, जबकि दिलीप कुमार की हवेली के मालिक गुल रहमान मोहम्मद का कहना था कि सरकार को हवेली 3.50 करोड़ की बाजार दर पर खरीदना चाहिए.









Source link

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More