BCCI अध्यक्ष का कबूलनामा: गांगुली बोले – IPL रद्द हुआ तो बोर्ड को 2500 करोड़ रु. का नुकसान होगा; फिलहाल 60 में से 31 मैच बचे

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- sponsored -

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई3 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

भारत में कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से सस्पेंड किए गए IPL 2021 को अगर पूरा नहीं किया गया, तो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को 2500 करोड़ का नुकसान होगा। BCCI प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने भी इस बात को स्वीकार किया है। ‘द टेलीग्राफ’ को दिए इंटरव्यू में गांगुली ने कहा- अगर IPL के बाकी बचे 31 मैच नहीं हुए तो हमें करीब 2500 करोड़ रुपए (340 मिलियन US डॉलर) का नुकसान होगा। IPL के 14वें सीजन को कई खिलाड़ियों के कोरोना पॉजिटिव निकलने के बाद सस्पेंड कर दिया गया। लीग में फिलहाल 60 में से सिर्फ 29 मैच ही हुए हैं।

”IPL को लेकर जल्दबाजी नहीं, दूसरे बोर्ड से बात कर रहे”
गांगुली ने कहा कि IPL के बाकी मैचों को कराने के लिए हमें काफी सोच विचार करना होगा। अभी सस्पेंड हुए कुछ दिन ही हुए हैं, लेकिन हमने मेहनत शुरू कर दी है। हमें दूसरे देशों के क्रिकेट बोर्ड से बात करनी होगी और देखना होगा कि टी-20 वर्ल्ड कप से पहले कोई विंडो खाली है या नहीं। इसमें कई स्टेप हैं और हमें धीरे-धीरे काम जारी रखना होगा। अभी फिलहाल किसी तरह की जल्दबाजी नहीं है।

सिर्फ BCCI को नहीं, फ्रेंचाइजी को भी होगा नुकसान
सिर्फ BCCI ही नहीं IPL रद्द होने की स्थिति में ब्रॉडकास्टर स्टार, फ्रेंचाइजी और दूसरे स्टेक-होल्डर्स को भी भारी नुकसान हो सकता है। यह लीग एक यूनिक बिजनेस मॉडल पर काम करती है। रद्द होने की स्थिति में ”फोर्स मेजर” की मदद ली जाएगी। इसके मुताबिक, स्टार BCCI को प्रो-राटा बेसिस पर सिर्फ उतने ही रुपए देगा, जितने मैच हुए हैं।

ब्रॉडकास्टर स्टार से BCCI को कितना नुकसान?
ब्रॉडकास्टिंग चैनल ‘स्टार’ BCCI को एक मैच के 54.4 करोड़ रुपए देता है। इस हिसाब से 29 मैच के लिए स्टार भारतीय क्रिकेट बोर्ड को 1,577 करोड़ रुपए देगा। अगर टूर्नामेंट रद्द हुआ, तो बाकी बचे 31 मैच के लिए BCCI को करीब 1,700 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

टाइटल स्पॉन्सर वीवो से BCCI को कितना नुकसान?
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बोर्ड को इस बार वीवो से 7.3 करोड़ रुपए पर गेम के हिसाब से 438 करोड़ रुपए का स्पॉन्सर रेवेन्यू मिलने वाला था। पर आधे से ज्यादा मैच रद्द होने की स्थिति में बोर्ड को करीब 226 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

ऑफिशियल पार्टनर्स से BCCI को कितना नुकसान?
ऑफिशियल पार्टनर्स टाटा, अनएकेडमी, ड्रीम-11, क्रेड, अपस्टॉक्स, पेटीएम और सीएट से BCCI को फुल सीजन के लिए करीब 268 करोड़ रुपए मिलने वाले थे। पर रद्द होने की स्थिति में ये सिर्फ 155 करोड़ रुपए ही चुकाएंगे। इसके साथ ही स्टार को भी स्पॉन्सर्स से नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

रेवेन्यू शेयरिंग से BCCI को कैसे होगा नुकसान?
नियम के मुताबिक BCCI, IPL फ्रेंचाइजी और टीम 50-50% रेवेन्यू शेयरिंग फॉर्मूला पर काम करता है। BCCI IPL से मिले 50% रेवेन्यू को फ्रेंचाइजी से बांटता है। पर लीग रद्द होने की स्थिति में BCCI को कम कमाई होने के बावजूद सभी फ्रेंचाइजी को पैसे देने होंगे। पहले मुकाबले यह राशि कम होगी। इससे बोर्ड और फ्रेंचाइजी दोनों को नुकसान होगा।

सितंबर लास्ट में विंडो तलाश रहा BCCI
हालांकि, BCCI ने अभी हार नहीं मानी है। वे टी-20 वर्ल्ड कप से पहले और सितंबर लास्ट में 20 दिन की विंडो की तलाश कर रहे हैं। इसके लिए UAE और इंग्लैंड जैसे कई ऑप्शन भी बोर्ड के पास मौजूद हैं। गुरुवार को इंग्लैंड के 4 काउंटी क्लब मिडलसेक्स, सरे, वारविकशायर और लंकाशायर ने टूर्नामेंट कराने का प्रस्ताव रखा।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More